Feedback Us !

Checking...

Ouch! There was a server error.
Retry »

Sending message...

Review It !

0 100

Advertisement

slide
slide
slide
slide
slide

Bhakti Sangeet Ratna &  Bhakti Sangeet Shiromani 

Shri. Jitendra N. Kothari

श्री जीतेन्द्र निहालचंदजी कोठारी का जन्म २५ जनवरी १९६७ को बीसलपुर(राजस्थान) में हुआ था | जब जितेंद्रजी ८ साल के थे तब उन्होंने उनकी स्कूल में किसी एक कार्यक्रम में बहुत ही प्रसिद्ध गीत वीरोसा इनने अवसरिये वेगा आवजो” गाके सबका दिल जीत लिया था|

फिर धीरे धीरे आपने अपनी संगीत में अपनी रूचि दिखाई और इसमें ही और बेहतर होते गए| आप १९८३ में मुंबई आये और एक प्रोफेशनल जैन संगीतकार बनने के प्रयास में थे||

२००२ में आपने अपने प्रोफेशनल संगीत करियर की शुरुआत की थी| आपने “जो जैसा करता है, वैसा फल पाता है” गीत गाया था जो लोगों में बहुत ही प्रसिद्ध हो गया था | फिर आपने कई प्रसिद्ध गाने गाए जिसकी कई लोगों ने काफी तारीफ़ की|

आपके इन्ही परिश्रम के कारण,  २००६ में आपको  “भक्ति संगीत रत्न” की उपाधि से सम्मानित किया और फिर २०११ में “भक्ति संगीत शिरोमणि” के नवाज़ा गया|

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 


****Photo Gallery****

 

 

 

For More Photos & Videos Click onto :

www.jitendrakothari.com

Vyaktitv(Chief Patron)
slide
slide
slide
slide
slide
Shraddhanjali
slide
slide
slide
slide
slide
. . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . .
slide
slide
slide
slide
slide
News
slide
slide
slide
slide
slide
slide
Suvichar
slide
slide
slide
slide
slide
. . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . .
slide
slide
slide
slide
slide
. . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . .
slide
slide
slide
slide
slide
slide
slide
Advertisement

slide
slide
slide
slide
slide