Feedback Us !

Checking...

Ouch! There was a server error.
Retry »

Sending message...

Review It !

0 100

Advertisement

slide
slide
slide
slide
slide

श्री देवेन्द्रसूरीजी म.सा.

 

श्री देवेन्द्रसूरीजी म.सा.

 

सं. १७८५ रामगढ़ में जन्म हुआ| आपके पिता का नाम पणराजजी एवं माता का नाम मानिबाई था| दीक्षा लेकर सं. १८२७ में बीकानेर में आचार्यपद पर आरूढ़ हुए| आपके क्षमाविजय, खान्तिविजय, हेमविजय, कल्याण विजय ४ अंतेवासी थे| क्षमाविजय को शिथल एवं अविनीत जानकर आपने उन्हें गच्छ से बाहर किया| उदयपुर के माहराणा ने आपको “कामर्ण सरस्वती” का बिरूद दिया था| आपश्री अपने ध्यान के बल पर भविष्य में होने वाली घटनाओं के ज्ञाता थे| इस कारण आपसे कई राजा प्रभावित हुए| आगामी दुष्काल की भी जानकारी पूर्व में ही अपने शिष्यों को दे रखी थी| सं. १८७० जोधपुर में आपका स्वर्गवास हुआ|

Vyaktitv(Chief Patron)
slide
slide
slide
slide
slide
Shraddhanjali
slide
slide
slide
slide
slide
. . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . .
slide
slide
slide
slide
slide
News
slide
slide
slide
slide
slide
slide
Suvichar
slide
slide
slide
slide
slide
. . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . .
slide
slide
slide
slide
slide
. . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . .
slide
slide
slide
slide
slide
slide
slide
Advertisement

slide
slide
slide
slide
slide