Feedback Us !

Checking...

Ouch! There was a server error.
Retry »

Sending message...

Review It !

0 100

Advertisement

slide
slide
slide
slide
slide

श्री वृद्धदेवसूरीजी म.सा.

 

श्री वृद्धदेवसूरीजी म.सा.

 

भगवान पार्श्वनाथ के कोरटागच्छ में आप उपाध्याय देवचन्द्रजी नाम से जाने जाते थे व धीरे-धीरे संयम शिथिल हो गए तब विहार करते हुए देकर अपनी पाट गाडी पर बिठाया व देवसूरी नाम दिया| उस समय साधुओं में आप बड़ी उम्र वाले थे इसलिए आपके आगे वृद्ध शब्द जोड़ा गया| आपने कोरटा में नाहड़ राजा के मंत्री द्वारा बनाए गए भव्य जिनालय की प्रतिष्ठा कराई, आपका वीर सं. ६७३ में स्वर्ग गमन हुआ|

Vyaktitv(Chief Patron)
slide
slide
slide
slide
slide
Shraddhanjali
slide
slide
slide
slide
slide
. . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . .
slide
slide
slide
slide
slide
News
slide
slide
slide
slide
slide
slide
Suvichar
slide
slide
slide
slide
slide
. . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . .
slide
slide
slide
slide
slide
. . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . .
slide
slide
slide
slide
slide
slide
slide
Advertisement

slide
slide
slide
slide
slide